सोमवार, 31 जनवरी 2011

गायक तलत महमूद और गायिका जगजीत कौर

क्विज संचालन ---- प्रकाश गोविन्द


प्रिय साथियों
नमस्कार !!!
हम आप सभी का क्रिएटिव मंच पर अभिनन्दन करते हैं।

'सी.एम.ऑडियो क्विज़- 7' आयोजन में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों और विजेताओं को बधाई। इस बार की क्विज पुरानी फिल्मों के दौर के दो सदाबहार सुपरहिट गानों पर आधारित थी। जिनमें से एक गाना था- 'बेरहम आसमाँ मेरी मंज़िल बता...' जिसे तलत महमूद ने फ़िल्म - 'बहाना' के लिए गाया था। दूसरा गाना था- 'तुम अपना रंज--ग़म...' जिसे जगजीत कौर ने फ़िल्म - 'शगुन' के लिए गाया था।

सभी प्रतियोगियों ने जिस उत्साह और रूचि से क्विज़ में हिस्सा लिया, उससे अत्यंत प्रसन्नता हुयी। सर्वप्रथम सही जवाब आदरणीय दर्शन बवेजा जी ने देकर प्रथम स्थान पर कब्ज़ा किया। उसके उपरान्त क्रमशः शेखर सुमन जी और गजेन्द्र सिंह जी ने सही जवाब देकर द्वितीय एवं तृतीय स्थान हासिल किया। इस तरह यह क्विज़ स्पर्धा बेहद दिलचस्प होती जा रही है। अजमल खान जी, शेखर सुमन जी, शुभम जैन जी के अलावा अब दर्शन बवेजा भी सीधे मुकाबले में गए हैं। देखना दिलचस्प होगा कि 25 क्विज़ के प्रथम चरण में कौन बढ़त हासिल करता है।

यहाँ बहुत से सशक्त प्रतियोगी ऐसे हैं जो व्यस्तता के चलते अथवा अन्य किसी कारणवश 'सी.एम.ऑडियो क्विज़' में शामिल नहीं हो पाते या फिर समय से नहीं पाते। ऐसे मेधा संपन्न लोगों से आग्रह है कि समय निकालकर यहाँ अवश्य आयें और हमारा सम्मान बढायें।

आप सभी अपना स्नेह यूँ ही बनाये रखिये। आप की प्रतिक्रिया और सुझावों की प्रतीक्षा रहेगी। आप से अब अगले रविवार 'सी.एम.ऑडियो क्विज- 8' के साथ मुलाकात होगी।
समस्त विजेताओं व प्रतिभागियों को
एक बार पुनः बहुत-बहुत बधाई और शुभ कामनाएं।

**************************************
अब आईये -
''सी.एम.ऑडियो क्विज-7' के पूरे परिणाम के साथ ही क्विज में पूछे गए दोनों विशिष्ट गायकों के बारे में बहुत संक्षिप्त जानकारी प्राप्त करते हैं :
glitter
1- गायक तलत महमूद [Talat Mahmood]
talat-mahmood तलत महमूद (24 फरवरी, 1924 - 9 मई, 1998) एक भारतीय गायक तथा अभिनेता थे। अपनी थरथराती आवाज़ से मशहूर उनको गजल की दुनिया का राजा भी कहा जाता है। उनका जनम 24 फरवरी 1924 को लखनऊ में हुआ था। वे अपनी माता तथा गायक पिता की छठी संतान थे। घर में संगीत और कला का सुसंस्कृत परिवेश मिला। बुआ को तलत की आवाज की लरजिश (कंपन) पसंद थी। तलत प्रोत्साहन पाकर गायन के प्रति आकर्षित होने लगे। इसी रुझान के चलते मोरिस संगीत विद्यालय (वर्तमान में भातखंडे संगीत विद्यालय) में दाखिला लिया। सोलह साल की उम्र में तलत को कमल दासगुप्ता का गीत 'सब दिन एक समान नहीं' गाने का मौका मिला। यह गीत प्रसारित होने के बाद लखनऊ में बहुत लोकप्रिय हुआ

उन दिनों में पार्श्व गायन का शुरुआती दौर था। अधिकतर अभिनेता अपने गाने खुद गाते थे। कुन्दन लाल सहगल की लोकप्रियता से प्रेरित होकर तलत भी गायक–अभिनेता बनने के लिए सन 1944 में कलकत्ता जा पहुंचे, जो उस समय इन गतिविधियों का प्रधान केन्द्र था । कलकत्ता में संघर्ष के बीच तलत की शुरुआत बांग्ला गीत गाने से हुई। रिकार्डिंग कंपनी ने गायक के रूप में उनको तपन कुमार नाम से गवाया । तपन कुमार के गाए सौ से ऊपर गीत रेकॉर्डों में आए। न्यू थियेटर्स ने 1945 में बनी राजलक्ष्मी में तलत को नायक–गायक बनाया। संगीतकार राबिन चटर्जी के निर्देशन में इस फ़िल्म में उनके गाए जागो मुसाफ़िर जागो ने भरपूर सराहना बटोरी। उत्साहित होकर वे मुंबई जाकर अनिल विश्वास से मिले। अनिल दा ने यह कहकर लौटा दिया कि अभिनेता बनने के लिए वे बहुत दुबले हैं। तलत वापस कलकत्ता चले गए¸ जहां उन्हें 1949 तक कुल दो फ़िल्में ही और मिली- 'समाप्ति' और 'तुम और वो' ।

जब लगा कि नायक की छवि में सच्चे गायक की प्रतिभा छटपटा रही है तब सिर्फ गायन को ही ध्येय बनाया। कोलकाता में बनी फिल्म स्वयंसिद्धा (1945) में पहली बार उन्होंने पार्श्वगायन किया। मुंबई में प्रदर्शित फिल्म ‘राखी’ (1949), ‘अनमोल रतन (1950) और ‘आरजू’ (1950) से उनके कैरियर को विशेष चमक मिली। फिल्म ‘आरजू’ की गजल ‘ऐ दिल मुझे ऐसी जगह ले चल जहाँ कोई न हो...’ ने अपार लोकप्रियता अर्जित की। यहीं से तलत और दिलीपकुमार का अनूठा संयोग बना जो कई फिल्मों में दोहराया गया।

गजल गायकी को तलत ने सम्माननीय ऊँचाई प्रदान की। हमेशा उत्कृष्ट शब्दावली की गजलें ही चयनित कीं। सस्ते बोलों वाले गीतों से उन्हें हमेशा परहेज रहा। यहाँ तक कि गीतकार-संगीतकार उन्हें रचना देने से पहले इस बात को लेकर आशंकित रहते थे कि तलत उसे पसंद करेंगे या नहीं। मदनमोहन, अनिल बिस्वास और खय्याम की धुनों पर सजे उनके तराने बरबस ही दिल मोह लेते हैं। मुश्किल से मुश्किल बंदिशों को सूक्ष्मता से तराश कर पेश करना उनकी खासियत थी। लरजती, सलोनी, मखमली आवाज के जादूगर तलत महमूद हमारे बीच में नहीं हैं, किंतु उनके सैकड़ों रसीले-नशीले नगमे फिजाँ में आज भी घुलकर संगीतप्रेमियों को मदहोश कर रहे हैं।

तलत महमूद के लोकप्रिय नगमें
जाएँ तो जाएँ कह..(टैक्सी ड्राइवर), सब कुछ लुटा के होश..(एक साल), फिर वही शाम, वही गम...(जहाँआरा), मेरा करार ले जा..(आशियाना), शामे गम की कसम..(फुटपाथ), हमसे आया न गया..(देख कबीरा रोया), प्यार पर बस तो नहीं..(सोने की चिड़िया), जिंदगी देने वाले सुन..(दिल--नादान), अंधे जहान के अंधे रास्ते..(पतिता), इतना न मुझसे तू प्यार बढ़ा..(छाया), आहा रिमझिम के ये..(उसने कहा था), दिले नादाँ तुझे हुआ क्या है..(मिर्जा गालिब)
glitter
2- गायिका जगजीत कौर [Jagjeet Kaur]
Singer Jagjit Kaur
कुछ आवाज़ें भुलाई नहीं भूलती। ये आवाज़ें भले ही बहुत थोड़े समय के लिए या फिर बहुत चुनिंदा गीतों में ही गूंजी, लेकिन इनकी गूंज इतनी प्रभावी थी कि ये आज भी हमारी दिल की वादियों में प्रतिध्वनित होती रहती हैं। जगजीत कौर के बारे में जानना ज़रूरी है कि वे संगीतकार ख़ैयाम की पत्नी हैं और बहुत ही कमाल की गायिका हैं। जगजीत जी ने फ़िल्मों के लिए बहुत कम गीत गाए हैं लेकिन उनका गाया हर एक गीत अच्छे संगीत के रसिकों के दिलों में ख़ास मुकाम रखता है

जगजीत कौर 1948-49 में बम्बई गईं थीं। उन्होने संगीतकार श्याम सुंदर के साथ फ़िल्म 'लाहौर' के गीतों, "नज़र से...", "बहारें फिर भी आएँगी..." आदि की रिहर्सल की थीं, लेकिन बाद में वे गीत लता जी से गवा लिए गए। इसी तरह 'जाल' फ़िल्म का मशहूर गीत "ये रात ये चांदनी फिर कहाँ" भी पहले जगजीत कौर गाने वाली थीं, लेकिन एक बार फिर यह गीत लता जी की झोली में डाल दिया गया।

संगीतकार ग़ुलाम मोहम्मद ने उन्हे सब से पहले 1953 की फ़िल्म 'दिल--नादान' में गवाया था - "ख़ामोश ज़िंदगी को एक अफ़साना मिल गया" और "चंदा गाए रागिनी छम छम बरसे चांदनी" यहीं से उनकी फ़िल्मी गायन की शुरुआत हुई थी।

जगजीत कौर के गाए उल्लेखनीय और यादगार गीतों में फ़िल्म 'बाज़ार' का गीत "देख लो आज हमको जी भर के" और फ़िल्म 'शगुन' का गीत "तुम अपना रंज--ग़म अपनी परेशानी हमें दे दो" सब से उपर आता है। इनके अलावा उनके गाए गीतों में मुख्य गानें हैं फ़िल्म 'चंबल की क़सम' का "बाजे शहनाई रे बन्नो तोरे अंगना", फ़िल्म 'शगुन' का ही "गोरी ससुराल चली डोली सज गई", फ़िल्म 'हीर रांझा' का गीत "नाचे अंग वे", जिसमें उन्होने नूरजहाँ और शमशाद बेग़म जैसे लेजेन्डरी सिंगर्स के साथ अपनी आवाज़ मिलाई थी फ़िल्म 'उमरावजान' का गीत "काहे को ब्याही बिदेस", फ़िल्म 'शोला और शबनम' का गीत "लड़ी रे लड़ी तुझसे आँख जो लड़ी" और "फिर वही सावन आया", फ़िल्म 'प्यासे दिल' का "सखी री शरमाए दुल्हन सा बनके" आदि। सचमुच उनकी आवाज़ में इस मिट्टी की ख़ुशबू है जो हौले हौले दिल पर असर करती है, जिसका नशा आहिस्ता-आहिस्ता चढ़ता है। उनकी आवाज़ में एक सादगी और एक नमी है उनके ये मुट्ठी भर गीत संगीत के क़द्रदानों के लिए अनमोल दौलत की तरह हैं
khaiyyam and jagjit kaur
खैय्याम साहब का स्वयं भी कहना है 'मैं आज यहां जिस कामयाबी तक पहुंचा हूँ उसमें जगजीत का बहुत ही बड़ा हाथ है जब भी मैं किसी फ़िल्म का संगीत तैयार करता हूं तो जगजीत मुझे मदद करती है. जब मैं फ़िल्म 'उमराव जान' का संगीत तैयार कर रहा था तब भी हम आपस में बहुत बहस करते थे तब जाकर कोई धुन बनती थी. 'जिन्दगी तेरी बज्म में' फ़िल्म 'उमराव जान' की ग़ज़ल को वास्तव में जगजीत ने ही बनाया है'
glitter
क्विज में दिए गए दोनों बेहतरीन गानों के वीडिओ
गाना - बेरहम आसमां......
गाना - तुम अपना रंजोग़म......
glitter
"सी.एम.ऑडियो क्विज़- 7" के विजेता प्रतियोगियों के नाम
glitter
जिन प्रतियोगियों ने एक जवाब सही दिया
applause applause applause समस्त
विजताओं को बधाईयाँ
applause applause applause
applause applause applause applauseapplauseapplauseapplause applause applause applause
आशा है जो इस बार सफल नहीं हुए वो आगामी क्विज में अवश्य सफल होंगे
आप सभी का हार्दिक धन्यवाद

यह आयोजन मनोरंजन के साथ साथ ज्ञानवर्धन का एक प्रयास मात्र है !

अगर आपके पास कोई सुझाव हो तो हमें ज़रूर ई-मेल करें!
अंत में हम सभी प्रतियोगियों और पाठकों का पुनः आभार व्यक्त करते हैं
जिन्होंने क्रियेटिव मंच की क्विज़ में शामिल होकर हमारा उत्साह बढाया.
th_Cartoon
6 फरवरी 2011, रविवार को हम ' प्रातः दस बजे' एक नई क्विज के साथ यहीं मिलेंगे !

सधन्यवाद
क्रियेटिव मंच
The End
===================================================

27 टिप्‍पणियां:

  1. सभी दर्शकों को शुभकामनाएं,

    creating manch: आपकी मेहनत की जितनी तारीफ की जाये कम है

    उत्तर देंहटाएं
  2. दर्शन बवेजा जी,शेखर सुमन जी व गजेन्द्र सिंह जी सहित समस्त विजेताओं को ढेर सारी बधाई
    ............
    विजेताओं को श्वेत श्याम चित्र में देखना अच्छा लगा
    बहोत ही सुन्दर पोस्ट
    .............
    तलद महमूद और जगजीत कौर के बारे में पहली बार इतनी अच्छी जानकारी मिली....आभार
    .............
    शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  3. सभी विजेताओं को बहुत-बहुत बधाई

    दोनों गायकों के बारें बेहतरीन जानकारी दी है
    आपका प्रेजेंटेशन हमेशा ही बहुत सुन्दर होता है लेकिन इस बार विनर्स को 'ब्लैक एंड व्हाईट' में करके एक अलग ही रूप दे दिया

    उत्तर देंहटाएं
  4. और मानवी जी आपने यह हिंदी में लिखने वाला बॉक्स लगाकर बहुत बढ़िया किया
    अब आसानी है हिंदी लिखने में

    उत्तर देंहटाएं
  5. पहेली का परिणाम घोषित करने के साथ ही मोड़रेशन हटा लिया करे ताकि विजेताओ को बधाई देने में इंतजार न करना पड़े

    उत्तर देंहटाएं
  6. दर्शन जी का जवाब :_

    ब्लॉगर दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

    २.Jagjit Kaur - khayyam - Shagoon 1964

    10:07 AM, January 30, 2011

    ब्लॉगर दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

    http://www.youtube.com/watch?v=0nD236dJCSs

    10:07 AM, January 30, 2011
    **************************************
    मानवी जी माफ़ी चाहूँगा पर किस आधार पर आपने दर्शन जी को विजेता घोषित किया है,
    जो लिंक उन्होंने दिया है वो उसी जवाब के समर्थन में है जो उन्होंने पहले दिया है,
    इस लिंक को जवाब भी माने तो ये केवल एक सवाल का जवाब है
    सही में तो विजेता शेखर भाई को बनना चाहिए ...
    कृपया भूल सुधारे और इन छोटी छोटी गलतियों के कारन इस मंच की प्रतिष्टा न गिराए ....

    **************************************
    और मैंने कोई गलत बात नहीं कही है जो अपने मेरा कमेन्ट नहीं छापा है

    उत्तर देंहटाएं
  7. result aaj itni jaldi aa gaya aur hamko pata bhi nahi chala. abhi bhi dashbord par creative manch ki nayi post nahi dikh rahi.

    darshan ji, shekhar ji aur gajendra ji sahit sabhi ko khub sari badhayi.
    pahle hamne socha upar teen log jo hain wo raj kapur, shammi kapur aur shashi kapur hain :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. bahut hi attractive post
    very nice information about both singers
    thanks

    is baar bhi ham top 5 men nahi hain :(

    उत्तर देंहटाएं
  9. प्रिय बेनामी जी

    परिणाम से सम्बंधित आपके छह सन्देश हमको प्राप्त हुए ! आपसे अनुरोध है कि आप एक बार पुनः कल वाली पोस्ट का निरीक्षण करें !

    कल जो गलती मानवी जी से हुयी थी आज वही गलती आपसे भी हो रही है :)

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  10. दर्शन जी सहित सभी विजेताओ को बधाई...
    आज की पोस्ट भी बहुत सुन्दर लगी...
    धन्यवाद...

    उत्तर देंहटाएं
  11. दर्शन बवेजा जी,शेखर सुमन जी, गजेन्द्र सिंह जी सहित समस्त विजेताओं को बहुत बहुत बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  12. @बेनामी जी
    क्यों गरीबमार करते हो :)
    कदे कदे ते लग्दा गरीबां दा नम्बर,भई हजम कर ल्या करों :)
    सब को बधाईयाँ....
    मानवी जी विजेता को प्रमाणपत्र भी दिया करें
    यादगार रहता है

    उत्तर देंहटाएं
  13. शाम से ही इंटरनेट गायब था,इतनी उत्सुकता हो रही थी उत्तर जान्ने की, कि क्या बताऊँ ....
    जैसे ही इंटरनेट आया यहाँ आया देखा फिर से नंबर दो....:(
    कोई बात नहीं....अगली बार प्रयास जारी रहेगा....
    सभी विजेताओं को बधाई....

    उत्तर देंहटाएं
  14. Congratulations to all winners!!!!!!!

    -Amazed to see such a beautiful presentation!
    You are really very creative.

    ..................
    all these details about Talat Mahmud ji are new to me.
    Love to hear Jagjeet Kaur's song.What a great voice she has!
    .....................
    Thanks a lot for this Informative post.

    उत्तर देंहटाएं
  15. Darshan ji deserves a big applause!
    First time he is at number one position.

    [Certificate ka idea achha hai. ]

    Keep it up!

    उत्तर देंहटाएं
  16. शेखर जी
    सच मानिए आपकी प्रतिक्रिया पढ़कर आश्चर्य हुआ. आप नंबर दो पर हैं तो क्या ये कम बड़ी बात है ? हम तो किसी भी लिहाज से कम नहीं समझते. बल्कि जिस प्रतियोगी ने भी बंटी के ब्लॉग से नक़ल नहीं की है वो नंबर एक है.

    सादर व सस्नेह

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत शानदार प्रस्तुति
    आज ब्लैक एंड व्हाईट में विजेताओं को देखकर अच्छा लग रहा है
    मेरा एक जवाब गलत हो गया था
    दर्शन जी और अन्य सभी को हार्दिक बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  18. मानवी जी
    नंबर एक होने की बात ही कुछ और है...
    ख़ुशी तो अभी भी हो रही है लेकिन वो बात कहाँ....
    खैर आपको बहुत बहुत बधाई आपके इस आयोजन के लिए....

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत शानदार प्रस्तुति
    आज ब्लैक एंड व्हाईट में विजेताओं को देखकर अच्छा लग रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  20. @शेखर जी
    कोई नी अगली बार आप
    अभी से लग जाओ सर्च में
    अगली बार
    शमशाद बेगम,प्रकाश कौर,लाल चंद यमला जाट,गीता दत्त,हर्द कौर,हेमा सरदेसाई,एल आर इश्वरी,ममता शर्मा,मुबारक बेगम, नूरजहाँ, राजकुमारी,एस जानकी,शारदा,सुधा मल्होत्रा, सुलक्षणा पंडित,सुरैया,ऐ एम् राजाह,हेमंत कुमार,के.एच. जे येसुदास
    आदि
    के गीत आ सकते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  21. मेल द्वारा प्राप्त बधाई सन्देश :

    Sent to Link Number: 7553d
    Sender Name: md. shaukat khan

    creativemanch ke sabhi vijaytaon ko bahut bahut bhai.

    उत्तर देंहटाएं
  22. good ..
    Pls Visit My Blog..


    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Download Free Latest Bollywood Music

    उत्तर देंहटाएं
  23. mujhe is quiz k baare me pata hi nahi tha. achcha prayas hai

    उत्तर देंहटाएं
  24. लो जी बधाई देने तो पहुँच ही गये। सभी विजेताओं को बधाई।

    उत्तर देंहटाएं

'आप की आमद हमारी खुशनसीबी
आप की टिप्पणी हमारा हौसला'

संवाद से दीवारें हटती हैं, ये ख़ामोशी तोडिये !

CTRL+g दबाकर अंग्रेजी या हिंदी के मध्य चुनाव किया जा सकता है
+Get This Tool