बुधवार, 12 जनवरी 2011

ठहाका एक्सप्रेस- 9


इस बार 'ठहाका एक्सप्रेस- 9' के पायलट हैं -


images (18)Laughter
images (11) is the
fghjBest Medicine
गुप्ता जी अपनी कंजूसी के लिए प्रसिद्द हैं।

गुप्ता जी (मृत्युशैया पर) : कहां हो, भाग्यवान...?
पत्नी (तपाक से) : यहीं हूं, प्राणनाथ...
गुप्ता जी : मेरे बेटे-बहुएं भी मेरे पास ही हैं क्या...?
बेटे-बहुएं (समवेत स्वर में) : जी पिताजी, हम सब आपके पास ही हैं...
गुप्ता जी (गुस्से में) : फिर बगल वाले कमरे का पंखा क्यों चला छोड़ रखा है, बेवकूफों...?

एक लड़का एक बहुत बड़े डिपार्टमेंट स्टोर में सेल्समैन की नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया, लेकिन मैनेजर ने उसे अंग्रेज़ी नहीं आने की वजह से रिजेक्ट कर दिया...

लड़के को खुद पर बहुत भरोसा था, सो, वह मैनेजर से बोला, "सर, आप मुझे एक महीने के लिए ट्रायल पर रख लीजिए... यदि मैं अंग्रेजी बोलने वालों से ज़्यादा बिक्री न कर पाऊं, तो मुझे तनख्वाह मत दीजिएगा, और निकाल दीजिएगा..."
मैनेजर को उसकी बात जंची, और उसे नौकरी पर रख लिया गया...
फिर क्या था...
अगले ही दिन से स्टोर की बिक्री दिन-दूनी-रात-चौगुनी बढ़ने लगी...
एक ही सप्ताह में बात स्टोर के मालिक तक पहुंची, तो वह खुद को रोक न सका, और इस चमत्कारी सेल्समैन को देखने चला आया...
वहां पहुंचकर उसने देखा कि लड़का एक ग्राहक को मछली पकड़ने का कांटा बेच रहा था...
मालिक थोड़ी दूर पर खड़ा होकर चुपचाप देखने लगा...


ग्राहक ने कांटा खरीदने की हामी भर दी, तो लड़के ने तपाक से कहा, "सर, इतने महंगे जूते पहनकर मछली पकड़ने जाएंगे तो ये खराब हो जाएंगे... एक काम कीजिए, एक जोड़ी सस्ते जूते भी खरीद लीजिए..."
ग्राहक ने जूते भी खरीद लिए, तो लड़का बोला, "तालाब के किनारे आपको धूप में बैठना पड़ेगा... एक टोपी, और छतरी भी ले लीजिए..."
ग्राहक ने टोपी भी खरीद ली, तो लड़का बोला, "मछली पकड़ने में भगवान जाने आपको कितना समय लग जाए, कुछ खाने-पीने का सामान भी साथ ले जाएंगे तो बेहतर होगा..."
ग्राहक ने बिस्कुट, नमकीन, और पानी की बोतलें भी खरीद लीं...
अब लड़का बोला, "मछली पकड़ लेंगे तो घर कैसे लाएंगे... एक टोकरी भी तो लीजिए, सर..."
ग्राहक ने टोकरी भी खरीद ली, और हज़ारों रुपये का बिल देकर चला गया...


मालिक यह सब देखकर बहुत खुश हुआ, और लड़के को अपने पास बुलाकर बोला, "यार, तुम तो कमाल के आदमी हो... जो आदमी केवल 500 रुपये का मछली पकड़ने का कांटा खरीदने आया था, उसे तुमने 5000 रुपये से भी ज़्यादा का सामान बेच डाला..."
लड़के ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, "कांटा खरीदने नहीं, सर, वह आदमी तो अपनी पत्नी के लिए सैनेटरी नैपकिन खरीदने आया था, सो, मैंने ही उसे कहा, अब चार दिन तू घर में बैठा-बैठा क्या करेगा, मछली पकड़ने चला जा..."

एक सरकारी कार्यालय में एकाउन्टेन्ट के पद के लिए एक उम्मीदवार का इंटरव्यू लिया जा रहा था...
परीक्षक ने पूछा : दो और दो कितने होते हैं...?
सवाल सुनकर उम्मीदवार उठा और आहिस्ते से कमरे का दरवाजा खोलकर बाहर झांका... फिर उसने झुककर मेज के नीचे झांका... कहीं कोई न था...
फिर वह सारे खिड़की-दरवाजे बन्द कर परीक्षक के कान में फुसफुसाया : कितने होते हैं, इसको मारिए गोली... आप बताइए सर, आप कितने करवाना चाहते हैं...?

उसे बिना और कोई सवाल पूछे नौकरी पर रख लिया गया...

रामू की पत्नी ने फ्राइंग पैन उठाकर रामू के सिर पर दे मारा।
रामू (चिल्लाते हुए)- तुमने मुझे क्यों मारा।
पत्नी- तुम्हारी डायरी में किसी बसंती का नाम लिखा है। कौन है ये बसंती?
रामू- कल मैंने रेस में जिस घोड़ी पर दांव लगाया था। उसका नाम है।
पत्नी- अच्छा आय एम सॉरी!

अगले दिन रामू की बीवी ने फिर मारा।
रामू- अब क्यों मारा?
पत्नी- तुम्हारी घोड़ी का फोन आया है... जाकर उठा लो!!!

संता सिंह और उसकी पत्नी अपने बेडरूम में आराम से सो रहे थे, और अचानक रात को दो बजे फोन की घंटी बजी...

दोनों की नींद खुल गई, संता ने फोन उठाया, इससे पहले कि वह कुछ कह पाता, दूसरी तरफ से आवाज़ आनी शुरू हो गई, संता सुनता रहा, और अचानक चीखकर बोला, "साले, मैं क्या म्यूनिसिपैलिटी में काम करता हूं..."

जब चीख-चिल्लाकर संता ने फोन पटक दिया, पत्नी ने प्यार से पूछा, "कौन था, जानू...?"
संता ने उखड़े सुर में जवाब दिया, "पता नहीं, कौन कमीना था... साला, मुझसे पूछ रहा था, रास्ता साफ है क्या...?"

संता सिंह का अपनी बीवी से जोरदार झगड़ा हुआ, जिसके दौरान गुस्से में आकर बीवी ने कुर्सी उठाकर संता को दे मारी...
संता सिंह का पैर टूट गया, और वह अस्पताल में पलस्तर करवाने के लिए पहुंचा...

अस्पताल में पलंग पर लेटे-लेटे संता दर्द से कराहते हुए इधर-उधर देखने लगा, और साथ वाले पलंग पर लेटे हुए मरीज को देखकर उसकी नज़रें ठिठक गईं, क्योंकि उस मरीज की दोनों टांगों पर पलस्तर चढ़ा हुआ था...

संता ने बहुत मासूमियत से सहानुभूति-भरी आवाज़ में सवाल किया, "भाईसाहब, क्या आपकी दो बीवियां हैं...?"

************************************************************
एस एम एस फंडा

कहां निवेश से कितना लाभ हुआ 2010 में...
सोना - 28 प्रतिशत
चांदी - 75 प्रतिशत
कच्चा तेल - 40 प्रतिशत
सेन्सेक्स - 35 प्रतिशत
...और
प्याज़ - 980 प्रतिशत...

साला, एक लाख के प्याज़ खरीदे होते, तो 2011 में लंदन में महल खरीद लेता...

***********************************************************
और भी ठहाके लगाने का मन हो तो नीचे क्लिक करें
***********************************************************

आप भी अगर कोई जोक्स, हास्य कविता या दिलचस्प संस्मरण भेजना चाहते हैं तो हमें मेल कर सकते हैं ,,,, आपका स्वागत है ! रचना को आपके नाम व परिचय के साथ प्रकाशित किया जाएगा !
क्रियेटिव मंच

39 टिप्‍पणियां:

  1. ab bas bhi kijiye bahut ho gaye hanste hanste muh dard karne laga hai.bahut badhiya...

    उत्तर देंहटाएं
  2. ab bas bhi kijiye bahut ho gaye hanste hanste muh dard karne laga hai.bahut badhiya...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह नाज तझंसते हंसते लोट पोट हो गये। बधाई और आशीर्वाद।

    उत्तर देंहटाएं
  4. हा...हा...हा...हा...हा.
    ठहाका एक्सप्रेस मस्त है
    सारे जोक्स बहुत मजेदार

    उत्तर देंहटाएं
  5. sabhi ek se badhkar badhiya hain.
    salesman aur santa wala chutkula to bahut hi majedaar.
    vivek ji ko aur aapko dhanyavaad

    उत्तर देंहटाएं
  6. तारीफ़ के लिए हर शब्द कम है.

    हाँ दूसरा जो डिपार्टमेंटल स्टोर में नौकरी वाला किस्सा है ऐसा ही कुछ हमें भी प्री जॉब ट्रेनिंग के १० दिनों में सिखाया बताया गया था जब मैंने एक डिपार्टमेंटल स्टोर जौइन किया था.
    एक अच्छे सेल्समैन में यही तो गुण होता है.

    ठहाका एक्सप्रेस के इस बेहतरीन प्रस्तुतिकरण के लिए विवेक जी और क्रिएटिव मंच को हार्दिक बधाई.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. रस्तौगी जी के ब्लॉग पर पहले ही पढ़े हुए है
    वो जिन्न वाला जोक बाप रे बाप .....
    फिर भी मज़ा आया
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  8. hasi rokni mushkil hai
    bade jabardast jokes hain
    ek se ek badhkar
    sales man wala, accountant wala, aur santa wala kamaal ka hai
    maja aa gaya ..... thanks to you

    उत्तर देंहटाएं
  9. साले, मैं क्या म्यूनिसिपैलिटी में काम करता हूं..."

    हा,,,हा,,,हा,,,,हा,,,,हा,,,हा,,,हा,,हा,,,हा,,,हा,,,हा,,हा,,,,हा,,,,हा,,,,हा,
    बहुर खूब ,,,,,,,कमाल
    ठहाका एक्सप्रेस पुराने भी पढूंगी अब तो

    उत्तर देंहटाएं
  10. Interesting
    Nice Jokes

    Thanks To Creative Manch & Vivek Ji

    उत्तर देंहटाएं
  11. संता सिंह एक स्टोर में गया और एक चमकती हूई

    चीज की तरफ इशारा करते हूए उसने

    स्टोर मालिक से पुछा - " वह चमकती हुई चीज क्या है ? ''

    मालिक ने कहा - "थर्मस फ्लास्क''

    संता सिंह ने पुछा- '' उससे क्या होता है ? ''

    मालिक ने कहा - '' इससे गरम चीज, गरम रहती है और ठंडी चीज, ठंडी रहती है ''

    संता सिंह ने कहा - '' ठीक है मुझे एक दे देना''

    दुसरे दिन संता सिंह अपने थर्मस के साथ अपने ऑफिस गया.

    संता सिंह के बॉस ने देखा और पुछा - " अरे यह चमकती हुई चीज क्या है''

    संता सिंह ने जवाब दिया - " थर्मस फ्लास्क''

    संता सिंह के बॉस ने पुछा - '' इससे क्या होता है?

    संता सिंह ने जवाब दिया - '' इसमें गरम चीज, गरम रहती है और ठंडी चीज, ठंडी रहती है ''

    बॉस ने कहा - '' अच्छा... तो तुम इसमें क्या लाए हो?''

    संता सिंह ने जवाब दिया - '' दो कप चाय और एक कोका कोला ''

    उत्तर देंहटाएं
  12. ठहाका एक्सप्रेस मस्त हैं|
    सारे जोक्स बहुत मजेदार हैं|

    उत्तर देंहटाएं
  13. मकर संक्राति ,तिल संक्रांत ,ओणम,घुगुतिया , बिहू ,लोहड़ी ,पोंगल एवं पतंग पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं........

    उत्तर देंहटाएं
  14. मजेदार...
    सक्रांति ...लोहड़ी और पोंगल....हमारे प्यारे-प्यारे त्योंहारों की शुभकामनायें......

    उत्तर देंहटाएं
  15. कल 9 बजे सुबह देखे
    विज्ञान पहेली -4 Science Quiz -4 (और Science Quiz -3 का उत्तर)

    उत्तर देंहटाएं
  16. देर से आई और देर से हंसती ही जा रही हूँ .... हंसी रुक ही नहीं रही है . मजेदार ब्लॉग ... होना चाहिए ..बहुत अच्छा लगा आना .आपको शुभकामनायें .

    उत्तर देंहटाएं
  17. वाह जी , सारे मजेदार........ क्या खूब हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  18. .
    .
    .
    हा हा हा हा... बढ़िया...

    आज इतवार के दिन बहुत हंसा दिया...



    ...

    उत्तर देंहटाएं
  19. maanvi ji mai kal bhi aayi thi aur aaj bhi aayi hun. aap busy hain to koyi baat nahi next sunday ko hi sahi. aap pareshan na hon. ye sab to chalta hi rahta hai.

    उत्तर देंहटाएं
  20. parikalpana mein blog ka naam dekha .achcha laga...

    sabhi ko badhayee ho .
    alpana

    उत्तर देंहटाएं
  21. सभी पाठको को सूचित किया जाता है कि पहेली का आयोजन अब से मेरे नए ब्लॉग पर होगा ...

    यह ब्लॉग किसी कारणवश खुल नहीं प रहा है

    नए ब्लॉग पर जाने के लिए यहा पर आए
    धर्म-संस्कृति-ज्ञान पहेली मंच

    उत्तर देंहटाएं
  22. मानवी जी,
    ऐसी बात नहीं है आपके ब्लॉग के बारे मे कुछ भी कहना सूरज को दिया दिखने के बराबर है,

    अपने ब्लॉग के दोबारा शुरू करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ेगी अभी , आशा है आप भी इस कार्य मे हमारे साथ होंगे

    आभार ब्लॉग पर आने के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  23. आनंद आ गया यहाँ आकर !
    शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  24. बहुत दिन के बाद खुल के हंसा हूँ.
    शुक्रिया, लगता है सही जगह फंसा हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  25. प्रशंसा के शब्दों के लिए सभी मित्रों को हार्दिक धन्यवाद... :-)

    उत्तर देंहटाएं

'आप की आमद हमारी खुशनसीबी
आप की टिप्पणी हमारा हौसला'

संवाद से दीवारें हटती हैं, ये ख़ामोशी तोडिये !

CTRL+g दबाकर अंग्रेजी या हिंदी के मध्य चुनाव किया जा सकता है
+Get This Tool