सोमवार, 19 अक्तूबर 2009

ठहाका एक्सप्रेस - 7

Shivendra Sinha
इस बार 'ठहाका एक्सप्रेस- 7' के पायलट हैं -
Laughter is the Best Medicine
images (13)
images (3)
images (15)

एक नवोदित फिल्म अभिनेत्री एक फिल्म निर्माता द्वारा उसके साथ किए गए दुर्व्यवहार की शिकायत लेकर पुलिस थाने पहुंची।
उसने रोते-रोते पुलिस इंस्पेक्टर को बताया - अमुक निर्माता बहुत नीच आदमी है। कल रात उसने मुझे अपने घर बुलाया और मेरा शारीरिक शोषण किया।
पुलिस इंस्पेक्टर ने बीच में ही टोका - तो आपने उसी वक्त शोर क्यों नहीं मचाया ?
अभिनेत्री ने सुबकते हुए कहा - उस वक्त मुझे पता नहीं था कि वह इतना नीच आदमी है।
पुलिस इंस्पेक्टर ने आगे पूछा - तो फिर यह आपको कब पता चला ?
- यह तो मुझे तब पता चला जब सुबह उसने बिना कोई कोई साइनिंग एमाउंट दिए मुझे चलता कर दिया ......

रूपये मिलते ही संता अपना सेविंग बैंक अकाउंट खुलवाने बैंक गया ! वहां क्लर्क ने संता को एक फार्म दिया और कहा - "इसे भरकर लाओ !"
संता ने फार्म को पढ़ा और तत्काल दिल्ली रवाना हो गया !
मालूम क्यों ?
फार्म में लिखा जो था - "कैपिटल में भरिये"

एक कवि-सम्मेलन में एक कवि महोदय को बड़े दिनों बाद मंच के ज़रिए क्रांति लाने का मौका मिला था...
सो हुजूर आ गए फॉर्म में..दो घंटे तक उन्होंने कविता के नाम पर अपनी बेकार की तुकबंदियों से श्रोताओं को अच्छी तरह पका दिया तो एक बुज़ुर्गवार मंच के पास आकर लाठी ठकठकाते हुए इधर से उधर घूमने लगे...
मंच से कवि महोदय को ये देखकर बेचैनी हुई...पूछा...बड़े मियां, क्या कोई परेशानी है...?

बड़े मियां का जवाब था...
नहीं जनाब, तुमसे क्या परेशानी...तुम तो हमारे मेहमान हो, इसलिए चालू रहो....मैं तो उसे ढूंढ रहा हूं, जिसने तुम्हें यहां आने के लिए न्योता भेजा था...

पंजाब की आजादी को लेकर दस-बारह सरदारों की मीटिंग चल रही थी ! गरमा गर्म बहस होने लगी ! एक सरदार ने सवाल उठाया- "चलो ... मान लो हमने भारत से पंजाब ले लिया ...लेकिन इसका डेवलपमेंट कैसे करेंगे ?"
यह सुनकर खामोशी छा गयी ! सब एक-दुसरे का मुह देखने लगे ! अचानक बंता ने दिमाग दौड़ाया- "कोई समस्या नहीं है ! हम अमेरिका पर हमला कर देंगे ! अब देख लो जहाँ-जहाँ अमेरिका ने हमला किया वहां जीतने के बाद सब विकास कार्य अपने हाथ में ले लिए ! है कि नहीं ?"

यह सुनकर वहां बैठे सब सरदार प्रसन्न हो गए कि इतनी आसानी से समस्या सुलझ गयी !

लेकिन संता सिंह सरदार कोने में चुपचाप बैठा था ! वो खुश देखाई नहीं दे रहा था ! सबने कारण पूछा !

तब संता ने चुप्पी तोड़ते हुए सवाल दागा - सारी बातें तो ठीक हैं लेकिन अगर हमने अमेरिका को हरा दिया तो ?

साइकिल वाले की टक्कर से पैदल चलने वाला युवक लुढ़क गया,
किन्तु साइकिल वाला प्रसन्नचित्त बोला - 'यह तुम्हारे लिए भाग्यशाली दिन है !'

अपने हाथों से घुटनों को सहलाता हुआ वह आदमी झुंझलाया - 'वह कैसे ?'

'क्योंकि आज मेरी छुट्टी है, नहीं तो मैं ट्रक चला रहा होता'

एक विदेशी पर्यटक घुमते हुए एक बहुत छोटे शहर में टिका ! वहां उसका कुत्ता खो गया ! उसने एक लोकल अखबार में विज्ञापन दिया - 'जो मेरे कुत्ते को खोजकर लाएगा, उसे एक हजार डालर इनाम मिलेगा !'

दूसरे दिन सवेरे तक अखबार नहीं छपा ! वह पर्यटक महाशय अखबार के कार्यालय पहुंचे ! वहां देखा तो केवल चौकीदार मिला ! पूछा - 'भाई अखबार छापने वाले कहाँ गये हैं ?'

चौकीदार ने कहा - 'किसी जेंटिलमैन का कुत्ता खो गया था ! उसने विज्ञापन दिया था जो उसके कुत्ते को ढूंढ लाएगा, उसे एक हजार डालर रुपये का इनाम मिलेगा, तो सभी कुत्ते की तलाश में गये हुए हैं ! आज कार्यालय नहीं आये ! वे चाहते हैं कि जब तक विज्ञापन अखबार में छपे, उससे पहले ही वे कुत्ते को लाकर इनाम पा लें !'

गाँव की एक लड़की अपने घर के बाहर बैठी गाय का दूध निकाल रही थी ! भीतर बैठी माँ को बाहर से किसी आदमी के बोलने की आवाज आई !
'बिटिया~~' ! माँ ने आवाज देकर पूछा - 'बाहर कौन है ?'
'अम्मा'
! बेटी ने जवाब दिया - 'बाहर कोई शहर का आदमी है, एक गिलास दूध मांग रहा है !'
'तुम फौरन भीतर आ जाओ !'
माँ ने आदेश दिया !
'लेकिन माँ, यह कहता है कि मैं नेता हूँ !'
'तो जल्दी से गाय को भी अपने साथ भीतर ले आओ !'


एस एम एस फंडा

मुझे जला देना या दफना देना
जब मर जाऊं एक घूँट व्हिस्की ओंठों पे लगा देना
मैं ताजमहल तो नहीं मांगता यारों
बस मेरी कब्र पर एक गर्ल्स हास्टल बनवा देना


***********************************************************
जब भी ठहाके लगाने का मन हो यहाँ क्लिक करें
***********************************************************
आप भी अगर कोई जोक्स, हास्य कविता या दिलचस्प संस्मरण भेजना चाहते हैं तो हमें मेल कर सकते हैं ,,,, आपका स्वागत है ! रचना को आपके नाम व परिचय के साथ प्रकाशित किया जाएगा !
क्रियेटिव मंच
creativemanch@gmail.com

18 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा हा...सभी जोक्स एक से बढ़कर एक मज़ा आ गया...

    आभार शिवेंद्र जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. अहः..गजब हंसाया आपने..अकेले कमरे में ठहाका लगाके हंस पड़ा मै तो ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह सभी जोक्स मजेदार हैं.
    :D
    आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  4. हा,,,हा...हा...हा..हा...हा,,,हा...हा...हा..हा.
    हा,,,हा...हा...हा..हा.हा,,,हा...हा...हा..हा.
    हा,,,हा...हा...हा..हा.हा,,,हा...हा...हा..हा.
    ठहाका एक्सप्रेस का जवाब नहीं
    मजा आ गया thanks

    .

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत मजेदार चुटकुले .हा हा हाहा ...........

    उत्तर देंहटाएं
  6. Nice Jokes
    sab ke sab majedaar
    hamen ye thahaka express sabse adhik pasand hai. isko ham kabhi miss nahi karte.
    aap bhi isko kabhi close mat karna

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा...हा...हा...हा..हा
    ठहाका एक्सप्रेस का इन्तजार रहता है
    पढ़कर हसी रोकनी मुश्किल हो जाती है
    एसएमएस फंडा to bahut jordaar hai

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा हा हा हा हा हा हा अरे आगे ही पेटदर्द है क्या अब हंसा हंसा कर मा र्ही डालोगे? सभी एक से बड कर एक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  9. शिवेंद्र जी ने सभी चुटकुले जबरदस्त पेश किये हैं, सब धमाकेदार ... पंजाब की आजादी वाला खूब हसाने वाला था
    लेकिन जब आखिर में नेता वाला चुटकुला सुना तो ठहाके लगाने पे मजबूर हो गया --
    "'तो जल्दी से गाय को भी अपने साथ भीतर ले आओ !'"
    हा,,,हा...हा...हा...हा...हा
    क्या इमेज बन गयी है नेताओं की भी :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. हा...हा...हा...हा
    बहुत बढ़िया
    ठहाका एक्सप्रेस में आकर दिल खुश हो जाता है
    बहुत धन्यवाद आपको

    उत्तर देंहटाएं
  11. कैपिटल लेटर वाला जोक मुझे सबसे अच्छा लगा।

    उत्तर देंहटाएं
  12. हा..हा..हा..हा..हा..हा..हा..
    शिवेंद्र जी का कलेक्शन हसाने वाला है बल्कि वाकई ठहाके लगाने वाला है. विशेषकर पंजाब वाला - 'अगर हमने अमेरिका को हरा दिया तो' ...हा..हा..हा..
    एसएमएस फंडा भी बढ़िया --- आभार

    उत्तर देंहटाएं
  13. शिवेंद्र !
    तुम्हारे सारे जोक्स मुझे बहुत अच्छे लगे !
    कई जोक्स तो ऐसे थे की बेसाख्ता हंसी फूट पड़ीं !
    हँसाने के लिए शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  14. सभी ठहाके ठहाकेदार रहे.
    सचमुच मज़ा आ गया................

    चन्द्र मोहन गुप्त
    जयपुर
    www.cmgupta.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुंदर। यह एक्सप्रेस यूं ही चलती रहे, यही कामना है।
    ( Treasurer-S. T. )

    उत्तर देंहटाएं
  16. हा हा हा हा हा हा...
    सभी जोक्स एक से बढ़कर एक
    मज़ा आ गया...

    उत्तर देंहटाएं

'आप की आमद हमारी खुशनसीबी
आप की टिप्पणी हमारा हौसला'

संवाद से दीवारें हटती हैं, ये ख़ामोशी तोडिये !

CTRL+g दबाकर अंग्रेजी या हिंदी के मध्य चुनाव किया जा सकता है
+Get This Tool