सोमवार, 14 फ़रवरी 2011

वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर

क्विज संचालन ---- प्रकाश गोविन्द


आप सभी को नमस्कार !
क्रियेटिव मंच आप सभी का स्वागत करता है !

आप सभी प्रतियोगियों एवं पाठकों को बहुत-बहुत बधाई जिन्होने इस पहेली मे हिस्सा लिया। कल 'C.M.Picture Quiz-42' में हमने प्रतियोगियों के समक्ष दो बच्चों की तस्वीरें पेश की थीं, और उन बच्चों को पहचानने को कहा था। एक-दो प्रतियोगियों ने आपत्ति जाहिर की की कोई हिंट देना चाहिए था। मित्रों जब हमने पहले ही कह दिया था कि क्विज़ सामयिक होगी तो बताईये तो भला आज क्रिकेट वर्ल्ड कप से बड़ी सामयिक बात क्या है ?
क्विज का सही जवाब था "1- वीरेंद्र सहवाग' और 2- गौतम गंभीर"

भारत में क्रिकेट धर्म का स्वरुप ले चुका है और मामला क्रिकेट वर्ल्ड कप का हो तो भला कौन इसके बुखार से बच सकता है। अभी से धडकनें तेज हो चुकी हैं, रेडिओ और टीवी का बाजार जोरों पर है। लोगों में अभी से सुगबुगाहट शुरू हो चुकी है। हम भी कैसे बचते ? बस दो धुरंधर खिलाड़ियों की तस्वीरें आपके सामने रख दीं। तस्वीरें भी उनकी, जिनके ऊपर पूरे देश वासियों की निगाहें रहेंगी। घरेलू परिस्थतियों और दर्शकों के अपार सहयोग को देखते हुए भारत इस बार विश्व चैंपियन बन सकता है। कोई शक नहीं है कि विश्व कप में भारत की सफलता काफी हद तक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर की फार्म पर निर्भर करेगी।

इस बार का क्विज परिणाम अप्रत्याशित रहा। हमें ऐसी आशा जरा भी नहीं थी क्योंकि सही जवाब बहुत ही कम प्रतियोगियों ने दिए। सर्वप्रथम सही जवाब देकर आशीष मिश्रा जी ने प्रथम स्थान हासिल किया। उसके उपरान्त क्रमशः दर्शन बवेजा जी और शिवेंद्र सिन्हा जी ने द्वितीय एवं तृतीय स्थान अर्जित किया।

सभी विजेताओं को हमारी तरफ से बहुत-बहुत बधाई और शुभ कामनाएं


अब आईये -
क्विज परिणाम में प्रतियोगियों के विजेता क्रम जानने के साथ ही दोनों
विलक्षण खिलाड़ियों के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्राप्त करते हैं :
वीरेंद्र सहवाग [viirendra Sehvag]
माँ की यादों में वीरू का बचपन
सहवाग को घर में प्यार से वीरू कहा जाता था। बचपन से ही वीरू बड़ा शरारती था। दूध का तो खास तौर पर बहुत शौक़ीन था। आये दिन वो दुसरे के हिस्से का भी दूध पी जाया करता था। दूध उसे आज भी बहुत अच्छा लगता है।

एक बार, जब वीरू बहुत छोटा था तब टीवी पर कपिल देव की माँ का इंटरव्यू आ रहा था। सब बच्चे फिल्म देखना चाहते थे लेकिन वीरू अड़ गया कि मुझे यही देखना है।
फिर वह माँ का हाथ पकड़ कर लाया और बोला, 'एक दिन तू भी ऐसे ही इंटरव्यू देगी'. उसकी इस बात पर घर के सभी बच्चें हँस दिए थे।

इसी तरह एक दिन जब सहवाग की माँ स्कूल की टीचर से मिलकर लौटी तो माँ ने वीरू से कहा, तेरी बहनों की टीचर से मिलकर मैं चौड़ी होकर घर आती थी पर तू ने तो मेरा दूध फीका कर दिया।
तब वीरू ने बड़े आत्मविश्वास से कहा था...तू चिंता मत कर एक दिन मैं तेरे दूध का मान रखूँगा।
sehvag भारत का एक बल्लेबाज जिससे दुनिया का हर गेंदबाज खौफ खाता है, वो है वीरेंद्र सहवाग। यह मानना है इमरान खान से लेकर रिचर्ड हेडली और बॉब विलिस के दिल में खौफ पैदा करने वाले विवियन रिचर्ड्स का। अभी हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ युसूफ पठान ने यादगार तूफानी पारो खेलने के बाद पत्रकारों से कहा कि- 'वीरेंद्र सहवाग के बेखौफ अंदाज ने उन्हें इस कदर खेलने के लिए प्रेरित किया।' आज सहवाग के बल्ले का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोलता है। तभी तो अपने समय के आक्रामक बल्लेबाज श्रीकांत के बेटे की बात करें या फिर क्रिकेट के भगवान सचिन के बेटे की, दोनों ही सहवाग के जबरदस्त प्रशंसक हैं। वीरेंद्र सहवाग की आक्रामक बल्लेबाज़ी को समूचा क्रिकेट जगत सलाम करता है।

virender_sehwag_india.psd
सहवाग को 2008 में अपने शानदार प्रदर्शन के लिए ‘विजडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड’ से सम्मानित किया गया. सहवाग ने इस पुरस्कार को 2009 में भी अपने नाम किया। इसके अलावा वीरू को 2002 में अर्जुन पुरस्कार का सम्मान मिल चुका है।

भारतीय टीम के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने जब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रवेश किया तो विश्लेषकों ने उन्हें सचिन तेंडुलकर की शैली में खेलने वाला बल्लेबाज कहा। जल्द ही सहवाग ने खुद की पहचान बना ली और एक समय वह भी आया, जब उन्हें भारतीय क्रिकेट का भविष्य कहा जाने लगा। आज सहवाग भारत के बेहद सफल सलामी बल्लेबाज हैं। सहवाग टेस्ट क्रिकेट में दो बार 300 से ज्यादा रनों की पारी खेल चुके हैं। यह कारनामा करने वाले वे भारत के एक मात्र बल्लेबाज हैं। उनके नाम सबसे तेज तिहरा शतक लगाने का विश्व रिकॉर्ड भी है। नजफगढ़ के नवाब के नाम से मशहूर वीरेंद्र सहवाग भारतीय क्रिकेट के अपनी स्टाइल अनोखे खिलाड़ी हैं। सहवाग का बल्ला जब गरजता है तो अच्छे-अच्छे खिलाड़ियों और टीमों के हौसले पस्त हो जाते हैं।

Virender-Sehwagवीरेंद्र सहवाग के अन्तराष्ट्रीय स्तर पर चमकने के बाद पूरे देश के ग्रामीण पृष्ठभूमि वाले परिवारों में यह विश्वास जगा कि उनके बच्चे भी सहवाग की तरह क्रिकेट में नाम कमा सकते हैं। सहवाग के क्रिकेट कैरियर को संवारने में उनके स्कूली कोच अमरनाथ शर्मा की अहम भूमिका रही।

वीरेंद्र सहवाग सही मायनों में मैच विनर हैं। विकेट पर पहुंचते ही उनका एकमात्र मकसद गेंदों की धुनाई लगाना होता है। इस कारण यह माना जाता है कि वह यदि 18-20 ओवर विकेट पर टिक गए तो मैच का किसी हद तक रुख तय हो जाता है। रनों की रफ्तार धीमी करना शायद सहवाग की डिक्शनरी में नहीं है और यही कारण है कि वह अर्धशतक के करीब हों या शतक के करीब, रन बनाने की रफ्तार एक ही रहती है।

सहवाग की सबसे बड़ी ताकत हमेशा आक्रामक अंदाज में images.jpegबल्लेबाजी करना है और वह किसी भी गेंदबाज को 2-3 ओवरों में ठुकाई लगाकर आक्रमण से हटवाने का माद्दा रखते हैं। जिन गेंदों को आमतौर पर बल्लेबाज डिफेंसिव अंदाज में खेलते हैं, उन्हें भी वह सीमारेखा के बाहर पहुंचाने का दम रखते हैं। वह यदि रंगत में खेल रहे हों तो किसी भी टीम की उनको लेकर बनाई गई रणनीति टांय-टांय फिस्स हो जाती है। अक्सर विकेट पर मौजूदगी से साथी ओपनर का भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए मनोबल बढ़ता है। वह छोटी पारी खेलें या लंबी पर अपने ऊपर कभी भी गेंदबाज को हावी होने की छूट नहीं देते हैं और इस कारण अक्सर गेंदबाज उनके सामने असहाय नजर आते हैं। कितने ही रिकॉर्ड उनकी झोली में हैं। बल्ले के साथ-साथ गेंदबाजी से भी वीरू ने दूसरी देशों के बल्लेबाजों को परेशान किया है।

रिचर्डस का तो यहां तक मानना है कि वर्ल्ड क्रिकेट में उनके बाद यदि कोई विस्फोटक बैट्समैन पैदा हुआ है, तो वो है भारत का विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग। क्रिकेट की दुनिया में यही परिचय है सहवाग का और यह माना जाता है कि सहवाग जबतक क्रीज पर मौजूद हैं तो, कोई भी असंभव सा लगने वाला स्कोर बनाया जा सकता है। इस विश्व कप में दुनिया के इस सबसे खतरनाक बल्लेबाज पर भारतीय टीम का सारा दारोमदार होगा। अगर वे क्रीज पर 20-25 ओवर भी टिक गये तो मैच का रुख किस तरफ जाएगा इसका अनुमान सहज ही लगाया जा सकता है।

sewhag1वन डे मैचों में 100 से अधिक का स्ट्राइक रेट रखने वाले वीरु के दमदार प्रदर्शन से ही विश्व कप में भारत का भाग्य तय होगा, यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी। खुद सहवाग का भी वर्ल्ड कप के बार में कहना है कि कि- 'हमारी टीम की बल्लेबाजी और गेंदबाजी काफी शानदार है और मैं चाहता हूं कि भारतीय टीम की विश्वकप खिताब जीतने की मुहिम में मैं भी महत्वपूर्ण योगदान दे सकूं।'

हमें उम्मीद है कि वीरू इस विश्व कप में अपने बल्ले का कमाल जरूर दिखाएँगे।
ds
गौतम गंभीर [Gautam Gambhir]
image_1
गौतम गंभीर क्रिकेट की दुनिया में नित नयी उंचाईयों को छू रहे हैं
उनके अन्दर एक आग है जो विपक्षी गेंदबाजों की धज्जियाँ उड़ाने और विजयी होकर मैदान से बाहर निकलने पर ही शांत होती है गंभीर जब ओपनिंग करने आते हैं तो वह एक सैनिक की तरह खुद को महसूस करते हैं, जिसका लक्ष्य अपने देश के लिए जीतना होता है उनके अन्दर की यही भावना उन्हें साथी खिलाड़ियों से अलग दिखाती है

gautam
गंभीर से जब ब्रेडमैन के रिकार्ड की बराबरी करने में बारे में पूछा गया, उन्होंने कहा, मैं लक्ष्य या रिकार्ड तय नहीं करता। यदि मैं लक्ष्य तय करूंगा और उन्हें हासिल नहीं कर पाया तो मुझ पर दबाव बनेगा। मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता कि मैं ब्रेडमैन का रिकार्ड तोड़ रहा हूं या नहीं। मेरे दिमाग में सिर्फ एक लक्ष्य होता है कि मैं हर संभव कोशिश करके भारत को जीत दिलाऊं और इसी के लिए मैं टीम में शामिल हूं। मैं भाग्यशाली हूं जो देश के लिए खेल रहा हूं और मैं अपने देश की तरफ से अधिक से अधिक रन बनाकर अच्छी शुरुआत देना चाहता हूं।

गौतम गंभीर शहीद भगत सिंह से बहुत प्रभावित हैं उन्हें देश की रक्षा में जुटे सैनिकों से बहुत प्यार है और उनका कहना है कि 'अगर मुझे आज सेना में जाने का मौका मिले तो मैं क्रिकेट छोड़ने को भी तैयार हूँ' यही वजह है कि सामने चाहे शाहिद अफरीदी हों या शेन वाटसन या फिर कोई भी वह भिड़ने से झिझकते नहीं
Gautam-Gambhir उनके कैरियर को संवारने में उनके मामा पवन गुलाटी की बड़ी भूमिका रही है. गंभीर को जगजीत सिंह की ग़ज़लें सुनना अच्छा लगता है गौतम ने सफलता के लिए एक ही मन्त्र अपनाया है कि कड़ी से कड़ी मेहनत करते रहो. वह निरंतर अभ्यास में यकीन रखते हैं और उनकी कोशिश यही रहती है कि कभी अभ्यास से दूरी न बनाओ। टीम में बने रहना है तो रनों का अम्बार लगाते रहो।

GautamGambhir1
यही कारण है कि गंभीर आईसीसी टेस्ट रेंकिंग में नंबर एक पर पहुंचे. 2009 में आईसीसी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बने, वन डे में भारतीय टीम की कप्तानी की व क्रिकेट के तीनों फार्मेट टेस्ट, वन डे और 20-20 में अपनी बल्लेबाजी का लोहा मनवाने में सफल रहे. इसी वजह से वह आईपीएल-4 की नीलामी में सबसे ऊंचे दाम 11.04 करोड़ रुपये पाने में सफल रहे कप्तानी हो या बल्लेबाजी वह जो भी करते हैं पूरे विश्वास से करते हैं वह साथी खिलाड़ियों के लिए लड़ने वाले 'टीम मैन' हैं इस विश्व कप में उनसे भारतीय टीम के लिए अहम भूमिका भूमिका निभाने की उम्मीद की जा रही है और यह गलत भी नहीं है
ds
सी. एम. पिक्चर क्विज - 42
प्रतियोगिता का परिणाम :
ds
देर से मिले सही जवाब
-----------------------------

समय सीमा समाप्त हो जाने के उपरान्त हमको सुश्री अदिति चौहान जी के दोनों जवाब सही प्राप्त हुए थे. इसके अलावा राज रंजन जी का भी एक सही जवाब हमको देर में प्राप्त हुआ था. प्रतियोगियों से अनुरोध है कि समय सीमा के भीतर ही क्विज का जवाब देने की कृपा करें. बाद में सही जवाब देने वाले प्रतियोगियों के नाम परिणाम में शामिल करना बहुत असुविधाजनक तो होता ही है साथ ही नियम के विपरीत भी है.
सादर व सस्नेह
congratulations08lo0
applause applause applause समस्त
विजताओं को बधाईयाँ
applause applause applause
applause applause applause applauseapplauseapplauseapplause applause applause applause
***********************************************************
आशा है जो इस बार सफल नहीं हुए वो आगामी क्विज में अवश्य सफल होंगे
आप लोगों ने प्रतियोगिता में शामिल होकर
इस आयोजन को सफल बनाया जिसकी हमें बेहद ख़ुशी है

आप सभी लोगों का हार्दिक धन्यवाद
यह आयोजन हम सब के लिये मनोरंजन ओर ज्ञानवर्धन का माध्यम है !
आपके पास कोई सुझाव हो तो हमें जरूर ई-मेल करें!
अंत में हम सभी प्रतियोगियों और पाठकों का आभार व्यक्त करते हैं
जिन्होंने क्रियेटिव मंच की क्विज़ में शामिल होकर हमारा उत्साह बढाया
th_Cartoon
20 फरवरी 2011, रविवार को हम ' प्रातः दस बजे' एक नई क्विज के साथ
यहीं मिलेंगे !


सधन्यवाद
क्रियेटिव मंच
The End
===================================================

22 टिप्‍पणियां:

  1. aashish ji sahit sabhi vijetao ko bahut bahdai...

    wakai is baar to abhut mazedar quiz rhi...afsos ho rha hia mai hissa nahi le payi...

    उत्तर देंहटाएं
  2. दोनों ही शानदार खिलाड़ियों के बारे में बहुत सुन्दर जानकारी दी
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. किसी कश्ती की भी चाहत होती है एक बार साहिल
    से टकराने की
    कितने दिनों से ख्वाहिस थी मेरी पहले स्थान पे
    आने की

    :))
    ***********************************
    दर्शन बवेजा जी, शिवेंद्र सिन्हा जी, मृदुला प्रधान जी एवं शेखर सुमन जी आप सभी को भी बहोत बहोत बधाई
    अदिती जी आपको भी बधाई आपने एक बार में में ही इन्हें पहचान लिया, यदि आप कल यहाँ उपस्थित होती तो शायद ही मेरा पहला नंबर लगता ....:)
    ***********************************
    क्रिएटिव मंच की ये पोस्ट भी अपनी छटा बिखेर रही है . दोनों खिलाड़ियों के बारे में बहोत ही अच्छी जानकारी दी
    बहोत बहोत धन्यवाद
    **********************************

    उत्तर देंहटाएं
  4. आशीष जी सहित (मुझे भी मिलाकर) सभी को बहुत बधाई / बहुत सुन्दर जानकारी
    मेरे हिंट का फायदा सिर्फ चार लोग ही उठा सके :)

    मानवी जी ये हरदिल अजीज शख्सियत कौन हैं जिनसे मुलाकार करवा रही हैं ? नाम तो बताया ही नहीं ???

    उत्तर देंहटाएं
  5. आशीष जी सहित (मुझे भी मिलाकर) सभी को बहुत बधाई / बहुत सुन्दर जानकारी
    कल सुबह 9 बजे विज्ञान गतिविधियां पर पर पहेली-6 की बारी है
    साथ ही पहेली-5 का जवाब भी
    इस बार पहेली आसान डाली है :)

    www.sciencedarshan.in/

    उत्तर देंहटाएं
  6. ham kisi ko na to badhayi denge aur na hi ab kisi quiz men participate karenge. its not fair maanvi ji.
    hamne aaj aate hi kitni mehnat se dono answer diye. kahin se nakal bhi nahi ki fir bhi aapne hamaara naam shamil nahi kiya.

    उत्तर देंहटाएं
  7. प्रिय अदिति जी इतना गुस्सा होना अच्छी बात नहीं है :)
    आपका नाम सिर्फ इसलिए शामिल नहीं हो सका क्योंकि आपने जवाब देने में बहुत देर कर दी थी और तब तक रिजल्ट बन चुका था.
    थोड़ी देर में आपके नाम का भी उल्लेख कर दिया जाएगा अलग से. अब तो मुस्कुरा दीजिये. क्रिएटिव मंच तो आपका अपना है न, उससे ऐसी नाराजगी ? गलत बात its not fair :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. सूचना :

    देर से सही जवाब देने वाले मेधावी प्रतियोगियों के नामों का उल्लेख कर दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. ab kuchh sahi hai :)

    ashish ji, darshan ji, shivendra ji, mradula ji aur shekhar ji ko khub saari badhayi.
    is baar world cup hamaara hi hai

    उत्तर देंहटाएं
  10. सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई.....

    उत्तर देंहटाएं
  11. आशीष जी,दर्शन बवेजा जी,शिवेंद्र सिन्हा जी, मृदुला प्रधान जी एवं शेखर सुमन जी, सभी को बहुत बहुत बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  12. मैं पहचान गया यही बहुत बड़ी बात है...:)
    सभी विजेताओं को बधाई...
    आशीष मिश्रा जी को विजेता बनने की बधाई...
    अगले १३ दिनों तक व्यस्तता चरम सीमा पर है...
    अगले रविवार को मेरी परीक्षा होने के कारण अगली ऑडियो पहेली में नहीं पहुँच पाउँगा....

    उत्तर देंहटाएं
  13. congratulations to all winners
    bahut sundar jaankari aur presentation

    उत्तर देंहटाएं
  14. अरे वाह ये बचपन के फोटो कितने क्यूट लग रहे हैं....... सभी विजेताओं को बधाई..... आज के दिन आपको मेरी प्यार भरी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  15. sabhi vijetaon ko badhayee.

    agla karykrm kya ha?
    mujhe to apne pc par wahan sirf dabbe nazar aa rahe hai?
    baki sab hindi wala matter pad paa rahi hun.

    thank you

    -Neelima

    उत्तर देंहटाएं
  16. विजेताओं की जय
    वीरू दादा की जय
    गंभीर भैया की जय
    टीम इंडिया की जय

    उत्तर देंहटाएं
  17. आशीष मिश्रा जी को विजेता बनने की बधाई और सभी विजेताओं को बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  18. आशीष मिश्रा जी को विजेता बनने की बधाई और सभी विजेताओं को बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  19. आशीष मिश्रा जी को विजेता बनने की बधाई और सभी विजेताओं को बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  20. लागता है मैं बहुत दिनों बाद इस ब्लाग पर आयी हूँ। क्षमा चाहती हूँ। सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई। आपके नये नये प्रयोग बहुत अच्छे लगते हैं। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं

'आप की आमद हमारी खुशनसीबी
आप की टिप्पणी हमारा हौसला'

संवाद से दीवारें हटती हैं, ये ख़ामोशी तोडिये !

CTRL+g दबाकर अंग्रेजी या हिंदी के मध्य चुनाव किया जा सकता है
+Get This Tool